Dussehra 2021 Date In India Calendar दशहरा की भारत में तारीख , क्यूँ और कैसे मनाया जाता है।

dussehra 2021 date in india calendar dussehra 2021 kab hai dussehra 2021 date in india dussehra 2021 mein kab hai dussehra 2021 date dussehra 2021

dussehra 2021 date in india calendar dussehra 2021 kab hai dussehra 2021 date in india dussehra 2021 mein kab hai dussehra 2021 date dussehra 2021 कैलेंडर। हेलो , दोस्तों आज इस आर्टिकल में बात करंगे की विजयदशमी या दशहरा कैसे , क्यों , कब और इसका शुभ मुहूर्त कब है , तो वजयदश्मी 2021 से जुडी सभी जानकारी जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़े । और इससे जुडी और कोई जानकारी जानने के लिए निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे ।

दशहरा या विजयदशमी 2021

दशहरा एक प्रसिद्ध हिन्दू त्योहार है । जो कि भारत में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है । अच्छाई की बुराई पर जीत की ख़ुशी में मनाया जाता है। भगवान राम ने इसी दिन रावन का वध किया था। इसे विजय दशमी के नाम से भी जाना जाता है। दशहरा को अन्य नाम विजयादशमी, बिजोया, आयुध पूजा से भी जाना जाता है, ये त्योहार रामायण काल से मनाया जा रहा है, इसको नवरात्री पर्व के समापन के उपरांत मनाया जाने वाला त्यौहार है। इस दिन प्रथम दिन नवरात्रे में प्रतिस्थापित की गयी देवियों की मूर्तियों का विसर्जन पानी में करके, उपवास में लीन श्रद्धालु एक दूसरे को जाकर मिठाइयाँ वितरित करते  हैं । हिन्दू पंचांग के अनुसार यह आश्विन माह के दसवें दिन (दशमीी को) शुक्ल  पक्ष में मनाया जाता है

क्यूँ मनाया जाता है दशहरा ? विजयदशमी क्यों मनाया जाता है ।

राम की पत्नी सीता का रावन ने वनवास के दोहरान सीता का अपहरण कर लिया था । अपनी पत्नी को मुक्त कराने के लिए राम ने रावन से युद्ध किया और इसी दिन राम ने रावन का वध किया था । साथ ही इस दिन देवी दुर्गा ने नौ रात्रि एवं दस दिन के युद्ध के उपरान्त महिषासुर पर विजय प्राप्त किया था।

महिषासुर कोन था ?

महिषासुर  एक राक्षस था । जिसने विष्णु भगवान से अमर होने का आशीर्वाद प्राप्त था । परन्तु देवी दुर्गा ने नौ रात्रि एवं दस दिन के युद्ध के उपरान्त महिषासुर पर विजय प्राप्त किया था। इस लिए दशहरा से पहले माँ दुर्गा की पूजा होती है। 

ये भी जाने – Friendship Day International In Hindi अंतराष्ट्रीय मित्रता दिवस तारीख ,कब, कैसे और क्यों मनाया जाता है ।

Dussehra 2021 Date दशहरा 2021 की तारीख , महीना/ विजयदशमी 2021 डेट कब है ? इन इंडिया

हिंदी पंचांग के अनुसार 

दोस्तों विजयदशमी का पर्व हर साल हर साल आश्विन महीने के शुक्ल पक्ष की दशमी को मनाया जाता है । जो की पुरे भारत वर्ष में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है । ये त्यौहार नवरात्री के दसवे दिन और दिवाली से ठीक 20 दिन पहले मनाया जाता है ।

अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 

साल 2021 का दशहरा अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 15 अक्टुम्बर 2021 , शुक्रवार के दिन  को मनाया जायेगा ।

दशहरा 2021 date and time/ तारीख  का शुभ महूर्त

विजय महूर्त – 14:01:53 से 14:47:55 के बिच रहेगा

अवधि – 0 घंटे 46 मिनट

अपराहन महूर्त – 13:15:51 से 15:33:57 तक

dussehra 2021 date in india
dussehra 2021 date in india

दशहरा/ विजयदशमी पूजन विधि

दशहरा के दिन सबसे पहले अपने सभी काम करके स्नान करने के बाद स्वच्छ कपडे पहन ले ।

इसके बाद गाय के गोबर के दस गोले यानि कंडे बनाये ।

नवरात्री के पहले दिन जो बोये जाते है।

उनको कंडो पर लगाए ।

कंडो पर दही लगाए ।

इसके बाद धुप और दीव जलाकर धुप – अगरबत्ती जलाकर रावण की पूजा की जाती है ।

इस दिन भगवान राम की झाकियों पर जो चढ़ाने की प्रथा बहुत ही पुरानी है ।

कई स्थानों पर कण के ऊपर जो रखने की पार्था भी है ।

विजयदशमी का महत्व 

माना जाता है। कि इस दिन जो कार्य आरम्भ किया जाता है । उसमें विजय मिलती है। प्राचीन काल में राजा लोग इस दिन विजय की प्रार्थना कर रण-यात्रा के लिए प्रस्थान करते थे।। दशहरा अथवा विजयदशमी भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाए अथवा दुर्गा पूजा के रूप में, दोनों ही रूपों में यह शक्ति-पूजा का पर्व है। शस्त्र पूजन की तिथि है। हर्ष और उल्लास तथा विजय का पर्व है। भारतीय संस्कृति वीरता की पूजक है,अच्छाई की बुराई पर जीत की ख़ुशी में मनाया जाता है । साथ ही दशहरा का पर्व दस प्रकार के पापों- काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, मत्सर, अहंकार, आलस्य, हिंसा और चोरी (रावन के दस सिर के प्रतीक जो दस पाप ) के परित्याग की सद्प्रेरणा प्रदान करता है।

दशहरा 2021 या दशहरा कैसे मनाया जाता है ?

इस दिन रावण का विशाल पुतला बनाकर उसे जलाया जाता है। दशहरा अथवा विजयदशमी भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाता है, । इस दिन जगह-जगह मेले लगते हैं। रामलीला का आयोजन होता है।भारतीय संस्कृति वीरता की पूजक है और समाज के रक्त में वीरता प्रकट हो इसलिए दशहरे का उत्सव रखा गया है।

साथ इस दिन   सार्वजनिक सजावट बड़ी धूम धाम से की जाती है । और कस्बों और शहरों मे झांकियां निकाली जाती है  खुले स्थानों पर मेलों का आयोजन भारत कृषि प्रधान देश है। जब किसान अपने खेत में सुनहरी फसल उगाकर अनाज रूपी संपत्ति घर लाता है। तो उसके उल्लास और उमंग का पारावार नहीं रहता। इस प्रसन्नता के अवसर पर वह भगवान की कृपा को मानता है और उसे प्रकट करने के लिए वह उसका पूजन करता है।

ये भी जरूर पढ़े  – Diwali 2021, दिवाली 2021

dussehra का अर्थ , दशहरा शब्द कहा से आया और सबसे पहले किसने मनाया ?

दशहरा शब्द की उत्पत्ति संस्कृत के शब्द ‘दश- हर’ से हुई है जिसका शाब्दिक अर्थ दस बुराइयों से छुटकारा पाना है। दशहरा उत्सव, भगवान् श्रीराम का अपनी अपरहण पत्नी को रावण पर जीत प्राप्त कर छुड़ाने के उपलक्ष्य में तथा और माना जाता है भगवान राम ने नो दिन माँ दुर्गा की पूजा की थी और दशवें दिन रावण का वध किया था तो अच्छाई की बुराई पर विजय, के प्रतीकात्मक रूप में मनाया जाता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *